होम / पोस्ट

बेकाबू कोरोना संक्रमण के बीच राजधानी देहरादून में डबल म्यूटेंट वायरस की पुष्टि, दिल्ली भेजे गए थे सैंपल

देहरादून : उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के बीच देहरादून में डबल म्यूटेंट वायरस की पुष्टि हुई है। बता दें मार्च महीने में तीन सैंपल जांच के लिए एनसीडीसी दिल्ली भेजे गए थे। अब इसमें दो में यूके स्ट्रेन और एक में अन्य स्ट्रेन की पुष्टि हुई है।
दून मेडिकल कॉलेज की वीआरडीएल लैब के को-इन्वेस्टिगेटर डॉ. दीपक जुयाल ने बताया कि दिल्ली एनसीडीसी से मिली मेल में यह जानकारी मिली हैं। मार्च माह में वेरिएंट की जांच को जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए जो सैम्पल भेजे थे, उनमें एक निजी लैब के तीन सैंपलों में डबल म्युटेटिड वायरस B.1.617 पाया गया है। दो सैंपल में यूके स्ट्रेन बी.1.1.7 और एक में अलग  तरह के म्यूटेंट की पुष्टि हुई है। यह वायरस सामान्य वायरस से ज्यादा फैलता है। इसलिए एहतियात बरतने की जरूरत है।

क्या है डबल म्यूटेंट वायरस ?
वायरस के इस नए वैरिएंट को वैज्ञानिक तौर पर B.1.617 नाम दिया गया है, जिसमें दो तरह के म्यूटेशंस (E484Q और L452R) हैं। यह वायरस का वह रूप है, जिसके जीनोम में दो बार बदलाव हो चुका है। दरअसल, वायरस अपनी जेनेटिक संरचना में बदलाव लाते रहते हैं ताकि वह लंबे समय तक प्रभावी रह सकें।

अब तक 5 राज्यों में पुष्टि
इस नए डबल म्यूटेंट वायरस की पहचान अब तक पांच राज्यों में की जा चुकी है। इनमें महाराष्ट्र, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, गुजरात, कर्नाटक और मध्य प्रदेश शामिल हैं। बता दें डबल म्यूटेशन की शुरुआत महाराष्ट्र से हुई थी।

8314

0 comment

एक टिप्पणी छोड़ें